#srisri

Demanding for rights is ignorance; Knowing that no one can take away your rights is freedom; Giving away your rights is love, wisdom. - Sri Sri

#srisri #srisriravishankar #knowledge #artofliving #artedevivir #artedeviver #kunstdeslebens #widsom #sabiduria #sagesse #weisheit #art #arte #kunst #contemporaryart #happiness #spirituality #spirit #spiritual #spiritualityquotes #satsang #spiritualjourney #wisewords #happy #behappy

1💬

प्रश्न : मेरा प्रश्न है कि हम अपने कार्य को करने में जी जान से जुट जाते हैं, और उसके परिणाम से आसक्त हो जाते हैं। अगर परिणाम अच्छा हो तो हमें खुशी होती है पर यदि परिणाम अच्छा ना हो, तो अच्छे परिणाम में अपनी आसक्ति की वजह से हमें तनाव और दुख होता है। अपनी सीमित समझ के साथ मैं कहूंगा कि भगवद गीता में कहा है कि वैराग्य के साथ कर्म करो, पर अगर हम ऐसा करते हैं तो हो सकता है कि परिणाम अच्छा ना हो। इसका समाधान कैसे हो? श्री श्री रवि शंकर : हां, गीता की ये समझ कुछ फ़र्क है। असल में गीता से ये समझना है कि, ‘तुम मेहनत से काम करो, अपना १०० प्रतिशत दो, उद्देश्य को देखो, उद्देश्य को पूरा करने की ओर देखो, पर साथ ही श्रद्धा और विश्वास रखो, और विश्राम करो।’ आपको पता है कि कुछ भी पाने के लिये ३ तरह का विश्वास होना आवश्यक है? पहले तो, खुद पर विश्वास रखो, तब तुम्हें घबराहट नहीं होगी। ‘ये काम संभालना मेरे लिये सरल है। मैं ये कर सकता हूं।’ दूसरा, अपने आस पास के लोगों पर, समाज पर विश्वास रखो। अगर तुम जानो कि तुम्हारी टीम अच्छी है, और वे उद्देश्य की प्राप्ति कर ही लेंगे, या सामाजिक व्यवस्था सुचारू है और तुम्हारे साथ न्याय होगा। तुमने अगर अच्छा काम किया है तो तुम्हें अच्छा ही मिलेगा। पर यदि आपको सामाजिक व्यवस्था पर विश्वास नहीं है, वह भ्रष्ट है इसलिये आप उस से पास नहीं हो पायेंगे। तो, हमें व्यवस्था पर विश्वास होना चाहिये। तीसरा विश्वास है उस उच्च शक्ति पर, परमात्मा पर जो करुणामय है, सब के लिये श्रेष्ठतम ही करता है। ये तीन प्रकार के विश्वास हमें चिंता से बचाते हैं। मैं कहूंगा, अपने लिये कुछ समय निकालो, विश्राम करो और पीछे मुड़ कर देखो कि पहले भी तुम कितनी बार तनावग्रस्त हुये थे, तुमने कुछ पराजयों का सामना किया था, और फिर प्राप्ति भी की थी। उसी तरह तुम अब भी प्राप्ति कर लोगे। इससे तुम्हें भीतरी शक्ति मिलती है, जिस की उस समय ख़ास आवश्यकता भी होती है। ये एक सेलफ़ोन के जैसा है। सेलफ़ोन के लिये आपको एक सिम कार्ड चाहिये, ठीक है ना? और बैटरी भी चार्ज होनी चाहिये, और नियंत्रक टावर से नज़दीकी भी होनी चाहिये (हंसी)। रेंज के भीतर होना चाहिये। इन में से एक की भी कमी रह जाये तो आप फ़ोन मिलाते रहिये, हेलो कहते रहिये, पर कोई जवाब नहीं आयेगा। #जयगुरुदेव
#srisri

0💬

#strength is in being open with #heart and #soul #loveeveryone #srisri #wisdom

0💬

#Navratri mood on 💕

Desde la luna nueva del 21 hasta la luna llena 🌕 que es el 5 de octubre son días super auspiciosos pero durante el festival de Nava-ratri del 21 al 29 de Septiembre es la época más favorable del año para zambullirse profundamente en uno mismo. Meditar diariamente y estar en el conocimiento (escucharlo y compartirlo), estar en compañía de gente sabia y feliz y hacer Seva (ayudar a otros).
#Navratri es un viaje desde el mundo exterior de nombres y formas al sutil mundo de las energías; al núcleo más íntimo de nuestro ser - el Ser. Mientras se celebra como la victoria del bien sobre el mal, desde la filosofía védica la victoria es de la realidad absoluta sobre la aparente dualidad." #SriSri
Un tiempo para ir para adentro, para meditar y sentir cuán conectados estamos todos... 💓
#meditacion #artofliving #navratri #tapas #japa #chanting #yolé :)

2💬

GOD IS THE CORE OF EXISTENCE, GOD IS LOVE
Ishwara Pranidhanad Va (Just by surrendering to God, you can achieve the fully blossomed state of consciousness.) -Patanjali Yoga Sutra 1.23- Now, it is easy to say surrender to God, but what is God? Where is God? Then comes the next question: What is the Lord? What is that which rules this world? You find that it is LOVE that rules the world, this Universe. Like the sun is the center of the solar system and it rules all the planets, THE VERY CORE OF YOUR LIFE IS RULED BY LOVE. Beyond your changing body, thoughts and feelings lies the very core of your existence which is very subtle, very delicate. That consciousness, the core of existence (love) is responsible for this whole Creation. There lies the LORD. A bird feeds its young out of love. A flower blossoms because of love. Ducks hatch eggs out of love. Cows take care of their calves out of love. Love is in-built in Creation. That is how the whole Creation functions. That is why Jesus said, “Love is God and God is Love.” .. -Sri Sri Ravi Shankar- #oneworldfamily #artofliving #patanjali #srisri #srisriravishankar #patanjaliyogasutras #patanjaliyoga #enlighten #enlightenment #inspire #inspiration #inspirationalquotes #inspired #inspirations #inspiredaily #inspire #inspiring #inspiredyogis #shanti #guru #devotion #devotional #bhakti #mediate #meditation #peace #love #peacesndlove #peaceful #peaceofmind

1💬

Did you miss the first two days of #Navratri2017?

Flash back of first 2 days of Bliss, Silence and Celebration at the Center.
#festival #india #Navratri2017 #srisri #gratitude #master #gurudev #love #rudra #puja

0💬

#aoldictionary: Dhyana, or meditation, is a state of being keenly aware of yourself and your surrounding environment but without the stress of focus.

1💬

8.30.17
.
.
You know that you are apart of a mature relationship when it doesn't even feel like there is a relationship. The other person becomes apart of you.
One person.
Several limbs.
Half of you.
.
.
@race2trace on the right

2💬

‪All those in #Bengaluru after #Navratri have a wonderful opportunity to learn a beautiful technique of effortless #meditation 🙏‬ Learn the secrets of meditation, and how to practice this ancient art wherever you go... 😊
.
To register: programs.org.in .
.
.
.
.
#artofliving #srisri #srisriravishankar #swami #swamiji #purnachaitanya #swamipurnachaitanya #meditate #yoga #yogi #mindfulness #zen #peace #peaceful #peaceofmind #stillness #yogagram #yogalove #yogalover #yogaaddict #yogaeverywhere #yogaeveryday

1💬

• Mantieni la mente impegnata con i pensieri degli illuminati. La tua mente è come acqua. In qualsiasi coppa metti l'acqua, l'acqua assume la forma di quella coppa. Allo stesso modo, con qualsiasi pensiero impegniamo la mente, la mente diventa come quel pensiero, sviluppa tutte le qualità del posto in cui la metti.🌻

1💬

Register for #Navratri Live Webcast from 10am - 5pm IST today and win a complimentary webcast!
Register on artofliving.org/navratri-live (clickable link in the bio) #Navratri2017 #watch #joinus #Gurudev #SriSri #contestgram #contestday #win #chancetowin

0💬

Register for #Navratri Live Webcast from 10am - 5pm IST today and win a complimentary webcast!
Register on artofliving.org/navratri-live (clickable link in the bio) #Navratri2017 #watch #joinus #Gurudev #SriSri #contestgram #contestday #win #chancetowin

1💬

प्रश्न : कृपया प्रेम के बारे में बताइये – माता पिता, बच्चे, परिवेश, मित्र, इत्यादि के लिये प्रेम।

श्री श्री रवि शंकर : प्रेम के बारे में मैं तुम्हें बताता हूं – तुम प्रेम से ही बने हो। तुम एक पदार्थ से बने हो जिसका नाम है प्रेम। तुम्हारी चेतना प्रेम से भरी है। प्रेम के कई प्रकार होते हैं। माता पिता का प्रेम, भाई बहन का प्रेम, बच्चों के लिये प्रेम, जीवनसाथी के लिये प्रेम – ये सब इसके विभिन्न स्वाद हैं। भिन्नता है, पर उसके पीछे मैं प्रेम को केवल एक भावना के रूप में नहीं देखता – प्रेम हमारा अस्तित्व है। तुम्हारे शरीर के सभी अणु एक दूसरे से प्रेम करते हैं और तभी तो तुम एक मनुष्य के रूप में हो। तभी तो एक मालिक है। जिस क्षण ये प्रेम का बंधन छूट जाये उसी क्षण इस शरीर का नाश हो जाता है। मैं प्रेम को अस्तित्व के रूप में देखता हूं, ना कि केवल एक भावना के रूप में। प्रेम के साथ ज्ञान हो तो आनंद होता है। अज्ञान की वजह से, ज्ञान के बिना प्रेम की वजह से ईर्ष्या, लालच, क्रोध, निराशा, और सभी कुछ आता है। ये सभी नकरात्मक भाव, प्रेम से ही उपजे हैं। अगर प्रेम ना हो तो तुम किसी से ईर्ष्या नहीं करोगे। है कि नहीं? यदि तुम्हें लोगों से अधिक चीज़ों से प्रेम हो तो उसे लालच कहते हैं।
आप किसी को आवश्यकता से अधिक प्रेम करें तो उससे उस पर स्वामित्व जताने लगते हैं। आपको उत्तमता से प्रेम हो तो आपको ज़रा सी तृटि से क्रोध आ जाता है। है कि नहीं? प्रेम को ज्ञान की लगाम की आवश्यकता है। भक्ति सूत्रों (प्रेम के सूत्र) पर २० सी डी हैं, तुम उसे ले सकते हो। उसमें मैंने विभिन्न प्रकार के प्रेम के बारे में बताया है, और कैसे वे हमारे जीवन को प्रभावित करते हैं। #जयगुरुदेव
#srisri

0💬

#srisri #myguru

0💬

Know that the love you experience through someone comes from the divine. They are just the postman. They are just an outer shell. The real love that comes to you from them is coming from the divine. So, see beyond the person. Then you will know that the love comes from one source, which is divine. It’s like the sun rays that comes through a window. It can come through another window also. So don’t be stuck with the window frame.

#master #gurudev #srisri #artofliving #yoga #bhakti #love #wisdom #knowledge

0💬

Bem vinda, Primavera! Sabia que a temperatura e as condições do clima podem influenciar os doshas? Veja dicas bem legais para equilibrar seu sistema em blog.srisriayurveda.com.br 🌻🌺🌷

1💬

Lead us from Darkness to Light...❤️
.
.
.
Pc:@arpan_chowdhury_7_jgd
#college #painting #life #srisri #spirituality #divine #followforfollow

1💬

प्रश्न : प्रिय गुरुजी, मैंने बहुत प्रार्थना की थी कि आप इस हफ़्ते यहां आयें। आपका बहुत बहुत धन्यवाद। मैं बहुत आभारी हूं। प्रार्थनाओं के बारे में हमें कुछ बताइये। श्री श्री रवि शंकर : जब तुम बहुत अभारी महसूस करते हो या एकदम लाचार महसूस करते हो, तब प्रार्थना का जन्म होता है। प्रार्थना के उदय होने का तीसरा कारण है, जब तुम ज्ञान में स्थित होते हो। तब तुम देखते हो कि चेतना का विस्तार हुआ है, तुम चेतना के एक नये आयाम तक पंहुचे हो, जो कि पूर्णता लिये हुये है और अंतर्ज्ञान, ज्ञान और प्रेम से भरा हुआ है।
#srisri

1💬

.
तुझे याद कर लूँ तो मिल जाती है हर दर्द से निज़ात,
लोग यूँ ही कहते है कि दवाइयाँ महँगी हैं__!!
.
#srisri #mygurudev #RD

0💬

This was actually real and #nofilter 🌴🌴#SriSri #YouKillingIt #Sunset #Beachin #SriLanka #NightNight

2💬

To the first day of #autumn!

4💬

Recognize and honor your uniqueness. @srisriravishankar #breathe #meditate #live

1💬